Tuesday, January 7, 2020

भूख


इन्द्रदेव भारती


आदमखोरों को सरकारी,
अभिरक्षण   वरदान  है ।
अपने हिंदुस्तान का भैया 
अद्भुत......संविधान  है ।


इंसां  को  गुलदार मारे,
उसको  पूरी   शह  यहाँ ।
गुलदार को  इन्सान  मारे,
जेल   जाना   तय  यहाँ ।


रोज बकरा  यूँ  बलि  का
बन    रहा   इन्सान   है ।
अपने हिंदुस्तान का भैया
अद्भुत......संविधान  है ।


रोज  जंगल  कट  रहे हैं,
जब   शहर   के  वास्ते ।
क्यूँ न जंगल ढूंढलें फिर
खुद  शहर   के   रास्ते  


इंसांं  हो   या   हो   हैवां,
भूख का क्या विधान  है ।
अपने  इस  जहान   का,
अज़ब ग़ज़ब विधान है ।


 


No comments:

Post a Comment

Featured Post

भारतीय परिदृष्य में मीडिया में नारी चित्रण / डाॅ0 गीता वर्मा

  डाॅ0 गीता वर्मा एसोसिऐट प्रोफेसर, संस्कृत विभाग, बरेली कालेज, बरेली।    “नारी तुम केवल श्रद्धा हो, विश्वास रजत नग पग तल में। पीयूशस्त्रोत ...